अभी-अभी
recent

लालित्य ललित के नए कविता संग्रह "आँगन घर में टहलेगा" का लोकार्पण


लालित्य ललित के नए कविता संग्रह "आँगन घर में टहलेगा" का लोकार्पण मंजीत बावा के स्टूडियो,होटल मेहर,डल्हौजी,हिमाचल प्रदेश में किया गया।इस अवसर पर सद्भावना दर्पण के संपादक गिरीश पंकज ,व्यंग्य यात्रा के संपादक प्रेम जनमेजय, सुपरिचित कवि डॉ दिविक रमेश,पंजाबी हिंदी के सुपरिचित विद्वान मनमोहन बावा ने सयुंक्त रुप में किया।सभागार में तीन दर्जन से अधिक रचनाकार मौजूद थे।लालित्य ललित का यह संग्रह बिजनोर से हिंदी प्रकाशक डॉ गिरिराज शरण अग्रवाल ने प्रकाशित किया हैं।संग्रह की भूमिका हरियाणा साहित्य अकादेमी के पूर्व निदेशक डॉ श्याम सखा श्याम ने लिखी है।
एक टिप्पणी भेजें
'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
बिना अनुमति के सामग्री का उपयोग न करें. . enjoynz के थीम चित्र. Blogger द्वारा संचालित.