अभी-अभी
recent

'स्त्री मेरे भीतर' के पंजाबी अनुवाद 'औरत मेरे अंदर' को वर्ष 2016 का साहित्य अकादमी सम्मान


'स्त्री मेरे भीतर' के पंजाबी अनुवाद 'औरत मेरे अंदर' को वर्ष 2016 का साहित्य अकादमी सम्मान मिला है। पंजाबी में इस संग्रह का अनुवाद प्रतिमान के संपादक कवि अमरजीत कौंके ने किया है। उन्हें इसके तहत साहित्य अकादमी द्वारा आयोजित समारोह में 50,000/—रु तथा ताम्रफलक प्रदान किया जावेगा। राजकमल द्वारा वर्ष 2004 में प्रकाशित यह संग्रह पंजाबी के साथ अब तक मलयालम, मराठी, उर्दू, उड़िया और बांग्ला में अनुदित होकर प्रकाशित हो चुका है। स्त्री मेरे भीतर के मराठी अनुवाद 'स्त्री माझया आत' को गांधी स्मारक निधि नागपुर का अनुवाद सम्मान भी प्राप्त है। वागीश्वरी सम्मान, ऋतुराज सम्मान, शीला सिद्धांतकर स्मृति सम्मान, पूश्किन सम्मान प्राप्त इस संग्रह की कविताओं के नाट्यरूपांतरण के पश्चात उसका विभिन्न मंचों पर नाट्यमंचन जारी है।
एक टिप्पणी भेजें
'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
बिना अनुमति के सामग्री का उपयोग न करें. . enjoynz के थीम चित्र. Blogger द्वारा संचालित.