'जयनंदन : व्यक्तित्व एवं कृतित्व' का विमोचन - विश्वहिंदीजन

अभी अभी

अंतरराष्ट्रीय हिंदी संस्था एवं हिंदी भाषा सामग्री का ई संग्रहालय

अपील

सामग्री की रिकॉर्डिंग सुनने हेतु नीचे यूट्यूब बटन पर क्लिक करें-

समर्थक

पुस्तक प्रकाशन सूचना

सोमवार, 18 सितंबर 2017

'जयनंदन : व्यक्तित्व एवं कृतित्व' का विमोचन




साहित्य के क्षेत्र में 'गोपाल निर्दोष' के नाम से जाने जानेवाले साहित्यकार डॉ. गोपाल प्रसाद की आलोचनात्मक पुस्तक 'जयनंदन : व्यक्तित्व एवं कृतित्व' का विमोचन 10 सितंबर को होटल राजदरबार के सभागार में संपन्न हुआ. इस विमोचन समारोह में स्वयं कथाकार जयनंदन, जयनंदन की कहानियों पर फ़िल्म बनानेवाले फिल्मकार एवं अभिनेता शिवकुमार प्रसाद, शोध प्रज्ञ सुबोध कुमार, शायर अफ़सर नवाब एवं समाजसेवी ज़की हैदर मंच पर आसीन थे. 

विमोचन समारोह के आरंभ में पुस्तक के प्रथम अध्याय का पाठ साहित्यकार सावन कुमार ने किया जबकि इस पर चर्चा करते हुए साहित्यकार शंभु विश्वकर्मा, अशोक समदर्शी, डॉ. सुधीरचंद्र सिंह, नितेश कपूर, अवधेश कुमार, रामरूप प्रसाद, प्रो. विजय कुमार आदि ने अपनी बातें रखीं. मंच संचालन लेखक डॉ. गोपाल प्रसाद ने स्वयं किया. इस विमोचन समारोह में रवि कुमार 'कवि', राहुल वर्मा, रेणु गुप्ता, अरुण वर्मा, रूमी काजी, संतोष वर्मा, डॉ. विजय कुमार, डॉ. शिवशंकर प्रसाद, के के सक्सेना, जितेंद्र कुमार, सुबोध कुमार, चंद्रमणि कुमार, कैलाश प्रसाद, पुष्कर जी, समीर राज, सुभांश गुप्ता, मयंक वर्मा, अरशद ग़ालिब, सौरभ कुमार, रोशन कुमार आदि साहित्यकार, शिक्षक, समाजसेवी आदि दर्जनाधिक गणमान्यजन उपस्थित थे.
एक टिप्पणी भेजें