अभी-अभी
recent

जनकृति अब विभिन्न भाषाओं में...




जनकृति विश्वहिंदीजन की तर्ज पर शीघ्र ही अन्य भारतीय भाषाओं में भी उपक्रम जारी करने जा रही है, जिसका सम्पादन एवं संचालन संबंधित भाषी व्यक्ति द्वारा किया जाएगा. इन उपक्रम की घोषणा शीघ्र ही होगी कुछ भाषाओं पर कार्य प्रारंभ कर दिया गया है. इन उपक्रम में आप विभिन्न भाषाओं के साहित्य, कला इत्यादि क्षेत्रों की जानकारी प्राप्त कर सकेंगे. यदि आप भारतीय भाषा में से किसी भी भाषा के उपक्रम का संचालन करना चाहते हैं तो अपना परिचय हमें jankritipatrika@gmail.com पर मेल करें.


इसके अंतर्गत जनकृति के विभिन्न भाषाओं में उपक्रम है जैसे 

जनकृति पंजाबी 
जनकृति मराठी 
जनकृति बंगाली 
जनकृति राजस्थानी 
जनकृति गुजराती 
जनकृति कन्नड़ 
जनकृति तेलगू 
जनकृति मलयालम 
जनकृति मैथली 


इसके अतिरिक्त विभिन्न लोकभाषाओं में भी जनकृति के उपक्रम है

जनकृति अवधी 
जनकृति बघेली 
जनकृति बुंदेली 
जनकृति मगही 
जनकृति भोजपुरी 
जनकृति छत्तीसगढ़ी 
जनकृति कुमाउनी 
जनकृति ब्रज 
जनकृति मालावी, निमाड़ी 


यह सभी उपक्रम जनकृति से जुड़े हैं, जिनका प्रचार-प्रसार जनकृति के सार्वजनिक मंचों से किया जाएगा. इन उपक्रम में सबंधित भाषा से संबंधित साहित्य, कला इत्यादि क्षेत्रों की सामग्री प्रकाशित की जायेगी. इनके माध्यम से हम विभिन्न भाषाओं को सृजनात्मक लेखन को आगे लायेंगे.
एक टिप्पणी भेजें
'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
बिना अनुमति के सामग्री का उपयोग न करें. . enjoynz के थीम चित्र. Blogger द्वारा संचालित.