अभी-अभी
recent

केदारनाथ सिंह : चकिया से दिल्ली--(सं.) कामेश्वर प्रसाद सिंह


केदारनाथ सिंह : चकिया से दिल्ली--(सं.) कामेश्वर प्रसाद सिंह
..................................................................................................
'चकिया से दिल्ली' कवि केदारनाथ सिंह के बारे में उनके कुछ समकालीन लेखकों और कुछ आत्मीय जनों द्वारा लिखे गए लेखों और टिप्पणियों का संग्रह है। चकिया अर्थात् उनका जन्मस्थान और दिल्ली अर्थात् वह महानगर जहाँ आज वे रहते हैं। ठेठ ग्रामांचल से महानगर की ओर यह स्थानान्तरण ऐसा है जिसे उनके पूरे विकासक्रम में देखा जा सकता है।
'चकिया से दिल्ली' में केदारनाथ सिंह के जीवन और व्यक्तित्व पर कुल 26 लेख संकलित हैं जो साहित्यिक दुनिया की दो पीढ़ियों के चुनिन्दा लेखकों, कवियों और कवि के आत्मीय जनों द्वारा लिखे गए हैं। पुस्तक का एक खण्ड केदारनाथ सिंह पर लिखी गयी कविताओं पर केन्द्रित है। इन कविताओं को केदारनाथ सिंह पर केन्द्रित संस्मरणों का काव्यात्मक संस्करण भी कहा जा सकता है।
केदारनाथ सिंह : चकिया से दिल्ली (संस्मरण)
हार्ड बाउंड संस्करण, पृष्ठ 204, मूल्य 495
एक टिप्पणी भेजें
'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
बिना अनुमति के सामग्री का उपयोग न करें. . enjoynz के थीम चित्र. Blogger द्वारा संचालित.