अभी-अभी
recent

चौपाल के लिए शोध आलेख आमंत्रित



चौपाल की घोषणा -

चौपाल के दो अंकों पर तेजी से काम चल रहा है। एक अंक सामान्य है जिसके लिए शोध आलेख आमन्त्रित हैं।
दूसरा अंक कथाकार स्वयं प्रकाश के अवदान पर केंद्रित है।
यदि आप रचना सहयोग देना चाहते हैं तो निम्न मेल अथवा फोन पर संपर्क करें - kameshwarprasadsingh60@gmail.com
094100689874

धन्यवाद।
डॉ कामेश्वर प्रसाद सिंह
संपादक चौपाल


काशीनाथ सिंह के प्रसिद्ध उपन्यास 'रेहन पर रग्घू' पर आधारित एक बहुत ही महत्वपूर्ण कृति...
मूल्य: मात्र 400/- रूपये

काशीनाथ सिंह के बहुप्रशंसित–पुरस्कृत उपन्यास रेहन पर रग्घू पर आधारित इस पुस्तक को विशिष्ट कहा जाएगा जहाँ हिंदी के श्रेष्ठ आलोचक नामवर सिंह के साथ-साथ युवतम आलोचक विमलेन्दु तीर्थकर और राजीव कुमार भी शामिल है. इस पुस्तक में स्वयं लेखक और उनके निकट के लोगों ने भागीदारी की है जो अनूठा और आत्मीयता से भरा है. 
संजय राय ने जिस तरह उपन्यास का सार दिया है वह उन पाठकों को भी उपन्यास पढने के लिए आमंत्रित करता है जो आलोचना तक ठहरे हैं, इस किताब को आलोचना की जड़ता तोड़ने के लिए पढ़ा जाना आवश्यक है. 
(नवल किशोर, वरिष्ठ आलोचक)

http://www.amazon.in/Chaupal-Mein-Rehan-Par-Raghu/dp/9380613512/ref=pd_rhf_se_p_img_1?ie=UTF8&refRID=0GX0XT4SKNPZGVHN5MK6

एक टिप्पणी भेजें
'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();
बिना अनुमति के सामग्री का उपयोग न करें. . enjoynz के थीम चित्र. Blogger द्वारा संचालित.